बुद्ध के प्रेरक विचार | गौतम बुद्ध के उपदेश | 30+ Buddha’s inspirational thoughts in hindi

महात्मा गौतम बुद्ध के प्रेरक विचार

बुद्ध के प्रेरक विचार- गौतम बुद्ध, जिन्हें सिद्धार्थ गौतम, शाक्यमुनि या केवल बुद्ध के नाम से भी जाना जाता है।महात्मा गौतम बुद्ध बौद्ध धर्म के संस्थापक थे।  महात्मा गौतम बुद्ध के अनमोल विचारों के बारे में, आप ने कभी न कभी जरूर पढ़ा होगा। इनके विचार आपकी ज़िन्दगी को एक बेहतर दिशा देने में सहायक हो सकते हैं। बुद्ध एक ऐसे महान व्यक्ति थे, जिन्होंने हमेशा अपने ज्ञान और अनुभव के माध्यम से लोगों को उनकी ज़िन्दगी के सही मायने समझाए।

इसे भी जरूर पढ़े- रामचरित मानस व रामायण में क्या अंतर हैं?

बुद्ध ने दुनिया को नैतिकता, ध्यान और ज्ञान का अभ्यास करके आत्मज्ञान का मार्ग सिखाया। गौतम बुद्ध अपने उपदेशों में जीवन को सुखी और सफल बनाने के सूत्र बताते थे। बुद्ध के विचार हमें न केवल जीवन के कठिन समय में मार्गदर्शन करते हैं, बल्कि हमें अपने भीतर के शांति और संतुलन को खोजने में भी मदद करते हैं।

यदि आप अपने जीवन में ज्ञान का प्रकाश चाहते हैं और जीवन को बेहतर तरीके से जीना चाहते हैं, तो महात्मा बुद्ध के अनमोल वचन को एक बार जरूर पढ़ें। आइए जानते हैं महात्मा बुद्ध के कौन से विचार हैं जो मनुष्य को सफल बनाते हैं…

बुद्ध के प्रेरक विचार

बुद्ध के अनुसार, इंसान जैसा सोचता है, उसकी सोच जैसी होती है वह वैसा ही बना जाता है। कोई मनुष्य बुरी सोच के साथ बोलता या काम करता है, तो उसे कष्ट ही मिलता है। वहीं यदि कोई व्यक्ति शुद्ध विचारों के साथ बोलता या काम करता है, तो उसे जीवन में खुशियां मिलती हैं। ये खुशी उसकी परछाई की तरह उसका साथ कभी नहीं छोड़ती है।

-कोई भी आपको तब तक नहीं हरा सकता, जब तक आप खुद हार न मान लें। अपने अंदर की शक्ति को पहचानें और आत्मविश्वास के साथ आगे बढ़ें।

राधे राधे 🙏🙏 एक सच्ची कहानी। एक बार अवश्य पढ़े 🙏🙏

-जीवन में हजारों लड़ाइयां जीतने से बेहतर स्वयं पर विजय प्राप्त करना है। यदि स्वयं पर विजय प्राप्त कर लिया तो फिर जीत हमेशा तुम्हारी होगी। इसे तुमसे कोई नहीं छीन सकता।

 

-आपके विचार ही आपकी वास्तविकता बनते हैं। इसलिए हमेशा सकारात्मक सोचें और अपने विचारों को शुद्ध रखें।

-व्यक्ति कभी भी बुराई से बुराई को खत्म नहीं कर सकता है। इसे खत्म करने के लिए व्यक्ति को प्रेम का सहारा लेना पड़ता है। प्रेम से दुनिया की हर बड़ी चीजों को जीता जा सकता है।

-धैर्य और संयम से ही हम अपने जीवन में संतुलन बनाए रख सकते हैं। जल्दबाजी और उतावलापन केवल परेशानियाँ बढ़ाते हैं।

-महात्मा बुद्ध के अनुसार, भविष्य के बारे में सपने देखकर अभी से मत उलझो। भूतकाल के समय को याद करके पछताने से अच्छा है अपने वर्तमान में रहो। खुश रहने का सबसे अच्छा तरीका यही है।

-सभी जीवों के प्रति करुणा और प्रेम का भाव रखें। यह न केवल दूसरों को खुशी देता है, बल्कि हमारे दिल को भी शांति और संतोष प्रदान करता है।

-जिस तरह से एक जलता हुआ दिया हजारों लोगों को रौशनी देता है, ठीक वैसे ही खुशियां बाटने से आपस में प्यार बढ़ता है। बुद्ध के अनुसार, खुशियां बांटने से हमेशा बढ़ती हैं। कभी कम नहीं होती हैं।

-बुद्ध के अनुसार, जंगली जानवर की अपेक्षा कपटी और दुष्ट मित्र से डरना चाहिए। जंगली जानवर आपके शरीर को नुकसान पहुंचा सकता है, लेकिन एक बुरा मित्र आपकी बुद्धि को नुकसान पहुंचा सकता है।

-सच्चाई के मार्ग पर चलना कठिन हो सकता है, लेकिन यह मार्ग ही हमें सही दिशा दिखाता है और अंततः सफलता की ओर ले जाता है।”

-अगर आप सच में खुद से प्यार करते हैं तो आप कभी भी किसी को दुःख नही पहुंचा सकते।

-बुद्ध का कहना था कि मै कभी नहीं देखता की क्या किया जा चुका है। मैं हमेशा यह देखता हूं कि अभी और क्या किया जाना बाकी है।

-मन को शुद्ध और स्पष्ट रखें। नकारात्मक विचारों को दूर करें और सच्चे ज्ञान की ओर अग्रसर हों।

-अतीत की चिंता और भविष्य की चिंता छोड़कर, वर्तमान में जियो। वर्तमान ही वह समय है जिसमें हम सचमुच जी सकते हैं।

-जैसे मोमबत्ती के बिना आग नहीं जलती उसी प्रकार मनुष्य भी अध्यात्मिक जीवन के बिना नहीं जी सकता।

– यदि आप मोक्ष पाना चाहते है थे उसके लिए आपको स्वयं ही अपने मन को क़ाबू कर प्रयास करने होंगे।

– जब आप क्रोध करते है तो उससे आपका ही नुकसान होता है। क्रोध करना जलते हुए कोयले को अपनी हथेली पर रखने की तरह है जिसे आप दूसरे की और फेंकना चाहते है लेकिन स्वयं को ही नुकसान पहुँचाते है।

-हजारों लड़ाई लड़ने से अच्छा है। खुद पर विजय हासिल करना। फिर जीत खुद की होती है। जिसे कभी कोई छीन नहीं सकता।

-जो करना है। आज ही करे, क्या पता कल जिंदगी रहे ना रहे।

-अगर लापरवाह होते हैं तो नरम घाव से भी हाथ छिल सकते हैं। इसी प्रकार धर्म के प्रति की गई लापरवाही हमें नर्क के दरवाजे पर ला सकती है।

– हमारा शरीर सबसे जरूरी है। इसलिए इसे हमेशा अपने शरीर को स्वस्थ रखें और इसका पूरा ख्याल रखे।

-खुशियां कभी भी पैसों से नहीं खरीदी जा सकती बल्कि इस बात पर निर्भर करता है कि आप कैसा महसूस कर रहे हो। आपक व्यवहार हर किसी के साथ किस प्रकार का है। आप दूसरों के साथ किस प्रकार व्यवहार करते हैं।

-अज्ञानता ही सबसे बड़ी काली रात होती है।

-जो व्यक्ति जागा हुआ है उसके लिए रात बहुत लंबी है। जो थका हुआ है उसके लिए दूरी बहुत लंबी है। जो मूर्ख ‘धर्म’ नहीं जानता उसके लिए जीवन ही लंबा है।

-व्याप्ति के लिए जुनून से बढ़कर कोई आग नहीं, उसी तरह मूर्खता जैसा कोई जाल नहीं है, और लालच जैसी कोई धार नहीं है।

-एक दिन एक जीवन को बदल सकता है, उसी तरह एक जीवन पूरे विश्व को बदल सकता है।

-हम अपने भाग्य के मालिक खुद है। हम अकेले पैदा होते हैं और अकेले ही हमारी मृत्यु होती है। इसलिए खुद का रास्ता खुद ही चुने।

– आप चाहे कितनी भी अच्छी बातो को पढ़ लो या फिर सुन लो जबतक आप इन बातो का अमल नहीं करते तबतक इन बातो का कोई फायदा नहीं है।

-हमारी इच्छाएं हमारे दुखो का सबसे बड़ा कारण है। इसलिए खुद पर काबू रखे। ज्यादा पाने का प्रयास न करें।

– हमारी जीभ एक हथियार के समान है, जो इंसान को उसका खून निकाले बिना ही उसे घायल कर देती है।

-हर इंसान को सजा से डर लगता है। सभी लोग मौत से डरते हैं। सभी को अपने सामान समझे किसी को छोटा न समझे। किसी भी जीव जंतु को ना मारे।

महात्मा गौतम बुद्ध के ये अनमोल विचार न केवल हमारे जीवन को एक नई दिशा देने में सहायक होते हैं, बल्कि हमें आत्मज्ञान की ओर भी प्रेरित करते हैं। इन विचारों को अपने जीवन में अपनाकर हम एक सुखी और सफल जीवन जी सकते हैं।

दोस्तों, अगर ये विचार आपको प्रेरित करते हैं, तो इन्हें अपने मित्रों और परिवार के साथ अवश्य साझा करें। हो सकता है कि आपकी वजह से किसी और की ज़िन्दगी में भी सकारात्मक परिवर्तन आए। बुद्ध के ये अनमोल विचार हमेशा हमें प्रेरित करते रहें और हमारे जीवन को एक सही दिशा देते रहें।

गौतम बुद्ध की कहानियाँ

Life lesson from buddha | जीवन की सीख | Self knowledge

बुद्ध के प्रेरक विचार | गौतम बुद्ध के उपदेश | 30+ Buddha’s inspirational thoughts in hindi

Biography of gautam buddha | भगवान बुद्ध का जीवन परिचय

Gautam Buddha or buddhism in hindi | गौतम बुद्ध और बौद्ध धर्म

Leave a Comment

error: